Today we talk about the best Friendship Day Shayari and Quotes for our dear Friends, happy friendship day quotes in hindi, friendship day quotes hindi
Friendship Day Shayari And Quotes

Happy Friendship Day 2020: Today we talk about the best Friendship Day Shayari and Quotes for our dear Friends. Friends have a special place in our lives. Therefore, on the occasion of Friendship Day, send them this message with a special feeling.

Everyone needs a lot of true friends in life because apart from laughing and having fun, you can also share your things with them that do not do to anyone else. 

After the family, there are true friends who always stand with you in your happiness and sorrow. 

Friendship Day Status In Hindi: The first Sunday of August is celebrated as Friendship Day every year to convey and express this importance of friends.

Happy Friendship Day Shayari, Quotes.

Today we talk about the best Friendship Day Shayari and Quotes for our dear Friends, happy friendship day quotes in hindi, friendship day quotes hindi
Friendship Day Shayari And Quotes

Happy Friendship Day Shayari: This year it is being celebrated on 2 August. Nowadays we have become so busy with our work and responsibilities that it is months even after meeting friends.

Many times, long-term plans are not completed and as a result, your dear friends become angry with you. 

So today you have a chance to send a message to all your friends and they can make them realize how important they are to you.

Happy Friendship Day Quotes In Hindi.

Today we talk about the best Friendship Day Shayari and Quotes for our dear Friends, happy friendship day quotes in hindi, friendship day quotes hindi
Friendship Day Shayari And Quotes

दोस्त दो-चार निकलते हैं कहीं लाखों में
जितने होते हैं सिवा उतने ही कम होते हैं
- लाला माधव राम जौहर
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्ती आम है लेकिन ऐ दोस्त
दोस्त मिलता है बड़ी मुश्किल से
- हफ़ीज़ होशियारपुरी
 →→→→→→→→→→→→→→
दोस्ती ख़्वाब है और ख़्वाब की ता'बीर भी है
रिश्ता-ए-इश्क़ भी है याद की ज़ंजीर भी है
- अज्ञात
→→→→→→→→→→→→→→
मुझे दोस्त कहने वाले ज़रा दोस्ती निभा दे
ये मुतालबा है हक़ का कोई इल्तिजा नहीं है
- शकील बदायुनी

→→→→→→→→→→→→→→
ये कहाँ की दोस्ती है कि बने हैं दोस्त नासेह
कोई चारासाज़ होता कोई ग़म-गुसार होता
- मिर्ज़ा ग़ालिब
→→→→→→→→→→→→→→

आ गया 'जौहर' अजब उल्टा ज़माना क्या कहें
दोस्त वो करते हैं बातें जो अदू करते नहीं
- लाला माधव राम जौहर
Happy Friendship Day
→→→→→→→→→→→→→→

ऐ दोस्त तुझ को रहम न आए तो क्या करूँ
दुश्मन भी मेरे हाल पे अब आब-दीदा है
- लाला माधव राम जौहर
→→→→→→→→→→→→→→

अक़्ल कहती है दोबारा आज़माना जहल है
दिल ये कहता है फ़रेब-ए-दोस्त खाते जाइए
- माहिर-उल क़ादरी
→→→→→→→→→→→→→→

भूल शायद बहुत बड़ी कर ली
दिल ने दुनिया से दोस्ती कर ली
- बशीर बद्र
दोस्त दिल रखने को करते हैं बहाने क्या किया
रोज़ झूटी ख़बर-ए-वस्ल सुना जाते है
- लाला माधव राम जौहर
→→→→→→→→→→→→→→ 
दोस्ती आम है लेकिन ऐ दोस्त
दोस्त मिलता है बड़ी मुश्किल से
- हफ़ीज़ होशियारपुरी
Happy Friendship Day
→→→→→→→→→→→→→→

दोस्त दो-चार निकलते हैं कहीं लाखों में
जितने होते हैं सिवा उतने ही कम होते हैं
- लाला माधव राम जौहर
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्ती ख़्वाब है और ख़्वाब की ता'बीर भी है
रिश्ता-ए-इश्क़ भी है याद की ज़ंजीर भी है
- अज्ञात
→→→→→→→→→→→→→→

मुझे दोस्त कहने वाले ज़रा दोस्ती निभा दे
ये मुतालबा है हक़ का कोई इल्तिजा नहीं है
- शकील बदायुनी
→→→→→→→→→→→→→→
प्यार दिल का सौदा है अक़्ल दिल की बीमारी
दोस्ती के पर्दे में दोस्ती से मत खेलो
- रईस अख़तर
 →→→→→→→→→→→→→→
दोस्ती क्या है फ़क़त दोस्त समझ सकता है
जिस ने मतलब से किया याद नहीं समझेगा
- अज्ञात 
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्त कह कर न दे फ़रेब ऐ दोस्त
दोस्त पर एतिबार होता है
- सफ़ी औरंगाबादी
Happy Friendship Day
→→→→→→→→→→→→→→
तलाश-ए-दोस्त को इक उम्र चाहिए ऐ दोस्त
कि एक उम्र तिरा इंतिज़ार हम ने किया
- हफ़ीज़ होशियारपुरी
→→→→→→→→→→→→→→
सारे किरदार सो गए थक कर
बस तिरी दास्तान चलती रही
- फ़हमी बदायूंनी
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्त बनाने की ख़ातिर
सूरत सब पहचानी रख
- अब्दुस्समद ’तपिश’
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्ती और किसी ग़रज़ के लिए
वो तिजारत है दोस्ती ही नहीं
- इस्माइल मेरठी
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्त दिल रखने को करते हैं बहाने क्या क्या
रोज़ झूटी ख़बर-ए-वस्ल सुना जाते हैं
- लाला माधव राम जौहर
तेरे पास आया हूँ कहने एक बात
मुझ को तेरी दोस्ती दरकार है
- फ़िराक़ गोरखपुरी
Happy Friendship Day
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्ती पर जिस की मुझ को नाज़ हो
दोस्त मेरा एक भी ऐसा न था
- सय्यद मुनीर
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्त तो है नादान है लेकिन
बे-समझे समझाने वाला
- आरज़ू लखनवी
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्ती धूप से ही कर ली जब
राह में तब घना शजर आया
- शायान क़ुरैशी
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्त ही जान को भी आते रहे
दोस्तों ही से ज़िंदगी भी मिली
- रशीद कौसर फ़ारूक़
→→→→→→→→→→→→→→
बहम रह सकें किस तरह आग पानी
निभे दोस्ती क्या तुम्हारी हमारी
- शाद लखनवी
→→→→→→→→→→→→→→
वही दुश्मन बने बैठे हैं 'मैकश'
जो दम भरते थे अपनी दोस्ती का
- मैकश नागपुरी
→→→→→→→→→→→→→→
ऐ दोस्त तुझ को रहम न आए तो क्या करूं
दुश्मन भी मेरे हाल पे अब आब-दीदा है
- लाला माधव राम जौहर 
→→→→→→→→→→→→→→
मोहब्बतों में दिखावे की दोस्ती न मिला
अगर गले नहीं मिलता तो हाथ भी न मिला
- बशीर बद्र
Happy Friendship Day
→→→→→→→→→→→→→→
लोग डरते हैं दुश्मनी से तेरी
हम तेरी दोस्ती से डरते हैं
- हबीब जालिब
→→→→→→→→→→→→→→
हटाए थे जो राह से दोस्तों की
वो पत्थर मेरे घर में आने लगे हैं
- ख़ुमार बाराबंकवी
→→→→→→→→→→→→→→
हम को यारों ने याद भी न रखा
'जौन' यारों के यार थे हम तो
- जौन एलिया
→→→→→→→→→→→→→→
तुझे कौन जानता था मेरी दोस्ती से पहले
तेरा हुस्न कुछ नहीं था मेरी शाइरी से पहले
- कैफ़ भोपाली
→→→→→→→→→→→→→→
जो दोस्त हैं वो माँगते हैं सुलह की दुआ
दुश्मन ये चाहते हैं कि आपस में जंग हो
- माधव राम जौहर
→→→→→→→→→→→→→→ 
दुश्मनों से प्यार होता जाएगा
दोस्तों को आज़माते जाइए
- ख़ुमार बाराबंकवी
→→→→→→→→→→→→→→
दुश्मनों ने जो दुश्मनी की है
दोस्तों ने भी क्या कमी की है
- हबीब जालिब
Happy Friendship Day
→→→→→→→→→→→→→→
दुश्मनों के सितम का ख़ौफ़ नहीं
दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं
- शकील बदायुनी
→→→→→→→→→→→→→→
दुश्मनी ने सुना न होगा
जो हमें दोस्ती ने दिखलाया
- ख़्वाजा मीर 'दर्द'
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्ती जब किसी से की जाए
दुश्मनों की भी राय ली जाए
- राहत इंदौरी
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्ती आम है लेकिन ऐ दोस्त
दोस्त मिलता है बड़ी मुश्किल से
- हफ़ीज़ होशियारपुरी
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्त दिल रखने को करते हैं बहाने क्या किया
रोज़ झूटी ख़बर-ए-वस्ल सुना जाते हैं
- माधव राम जौहर
Happy Friendship Day
→→→→→→→→→→→→→→
आ कि तुझ बिन इस तरह ऐ दोस्त घबराता हूँ मैं
जैसे हर शय में किसी शय की कमी पाता हूँ मैं
- जिगर मुरादाबादी
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्तों को भी मिले दर्द की दौलत या रब
मेरा अपना ही भला हो मुझे मंज़ूर नहीं
- हफ़ीज़ जालंधरी
 →→→→→→→→→→→→→→
हमें भी आ पड़ा है दोस्तों से काम कुछ यानी
हमारे दोस्तों के बेवफ़ा होने का वक़्त आया
- हरी चंद अख़्तर
→→→→→→→→→→→→→→
इस से पहले कि बे-वफ़ा हो जाएँ
क्यूँ न ऐ दोस्त हम जुदा हो जाएँ
- अहमद फ़राज़
Happy Friendship Day
→→→→→→→→→→→→→→
मेरा ज़मीर बहुत है मुझे सज़ा के लिए
तू दोस्त है तो नसीहत न कर ख़ुदा के लिए
- शाज़ तमकनत
→→→→→→→→→→→→→→
शर्तें लगाई जाती नहीं दोस्ती के साथ
कीजे मुझे क़ुबूल मिरी हर कमी के साथ
- वसीम बरेलवी
→→→→→→→→→→→→→→
ज़िद हर इक बात पर नहीं अच्छी
दोस्त की दोस्त मान लेते हैं
- दाग़ देहलवी 
→→→→→→→→→→→→→→

दोस्त दो-चार निकलते हैं कहीं लाखों में
जितने होते हैं सिवा उतने ही कम होते हैं
- लाला माधव राम जौहर

Happy Friendship Day

→→→→→→→→→→→→→→
तन्हाई के लम्हात का एहसास हुआ है
जब तारों भरी रात का एहसास हुआ है
- नसीम शाहजहाँपुरी
→→→→→→→→→→→→→→
काग़ज़ में दब के मर गए कीड़े किताब के
दीवाना बे-पढ़े-लिखे मशहूर हो गया
- बशीर बद्र
→→→→→→→→→→→→→→
ज़हर मीठा हो तो पीने में मज़ा आता है
बात सच कहिए मगर यूँ कि हक़ीक़त न लगे
- फ़ुज़ैल जाफ़री 
→→→→→→→→→→→→→→
एक जैसे दोस्त सारे नहीं होते, 

कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते, 

आपसे दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ, 

कौन कहता है तारे ज़मीन पर नहीं होते !
→→→→→→→→→→→→→→
हर नज़र को एक नज़र की तलाश है
हर चेहरे में कुछ खास है 

आपसे दोस्ती हम यूं ही नहीं कर बैठे 
क्या करें हमारी पसंद ही कुछ खास है 
Happy Friendship Day

→→→→→→→→→→→→→→
खता मत गिन दोस्ती में,

कि किसने क्या गुनाह किया..

दोस्ती तो एक नशा है

जो तूने भी किया और मैंने भी किया

Happy Friendship Day 
→→→→→→→→→→→→→→
 मुस्कान का कोई मोल नहीं होता,

कुछ रिश्तों का तोल नहीं होता,

दोस्त तो मिल जाते हैं हर रास्ते पर

लेकिन हर कोई आपकी तरह अनमोल नहीं होता।

हैप्पी फ्रेंडिशिप डे
→→→→→→→→→→→→→→
करनी है खुदा से गुजारिश

तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले

हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा

या फिर कभी जिंदगी न मिले
→→→→→→→→→→→→→→
 जिंदगी जख्मों से भरी है

वक्त को मरहम बनाना सीख लो

हारना तो है एक दिन मौत से

फिलहाल दोस्तों के साथ जिंदगी जीना सीख लो

हैप्पी फ्रेंडिशिप डे
→→→→→→→→→→→→→→
लोग दौलत देखते हैं, हम इज्जत देखते हैं

लोग मंजिल देखते हैं, हम सफर देखते हैं

लोग दोस्ती करते हैं हम उसे निभाते हैं
→→→→→→→→→→→→→→
दोस्तों की कमी को पहचानते हैं हम,

दुनिया के गमों को भी जानते हैं हम,

आप जैसे दोस्तों के ही सहारे,

आज भी हंसकर जीना जानते हैं हम।

Post a Comment

Please do not spam

Previous Post Next Post