Today we are going to ShareGood night Shayari,  Best Shayari on Good Night 2020, Good Night Shayari in Hindi, Sad Shayari on Good Night, Shayari on Good Night.
Good Night 2020  Good Night Love Quotes

Today we are going to Share Best Good night Shayari, Shayari on Good Night 2020, Good Night Shayari in Hindi, Sad Shayari on Good Night in Hindi with You. 

If you want to say beautiful Good Night Shayari, Good Night with your loved ones, then you must read our romantic Shayari on Good Night 2020, Good Night Love Quotes, Good Night Shayari in Hindi for Friends.

Best Shayari On Good Night 2020 Hindi.


Today we are going to Share Best Shayari on Good Night 2020, Good Night Shayari in Hindi, Sad Shayari on Good Night, Shayari on Good Night.
Good Night 2020  Good Night Love Quotes

Romantic Good Night Shayari 2020: We also talk about Good night ShayariGood Night Shayari in English, Good Night Shayari funny, Good Night Shayari for Love, Good Night Shayari For dost. Good Night Shayari 2020, Intezar Good Night Shayari in Hindi.

कोई उम्मीद बर नहीं आती, कोई सूरत नज़र नहीं आती 
मौत का एक दिन मुअय्यन है, नींद क्यूँ रात भर नहीं आती 
-ग़ालिब
 शुभ रात्री - Good Night
→→→→→→→→→→→→→

तुम्हें नींद नहीं आती तो कोई और वजह होगी
अब हर ऐब के लिए कसूरवार इश्क़ तो नहीं..!
- अज्ञात

→→→→→→→→→→→→→

नींद से आँख वो मिल कर जागे
कितने सोए हुए मंज़र जागे
- शायर लखनवी

→→→→→→→→→→→→→

भरी रहे अभी आँखों में उस के नाम की नींद 
वो ख़्वाब है तो यूँ ही देखने से गुज़रेगा 
- ज़फ़र इक़बाल

→→→→→→→→→→→→→

बिन तुम्हारे कभी नहीं आई 
क्या मिरी नींद भी तुम्हारी है 
- जौन एलिया
शुभ रात्री - Good Night
→→→→→→→→→→→→→

हमें भी नींद आ जाएगी हम भी सो ही जाएँगे 
अभी कुछ बे-क़रारी है सितारो तुम तो सो जाओ 
- क़तील शिफ़ाई

→→→→→→→→→→→→→

रात भी नींद भी कहानी भी 
हाए क्या चीज़ है जवानी भी 
-फ़िराक़ गोरखपुरी

→→→→→→→→→→→→→

नींद आँखों में मुसलसल नहीं होने देता 
वो मिरा ख़्वाब मुकम्मल नहीं होने देता 
-रेहाना रूही
शुभ रात्री - Good Night
→→→→→→→→→→→→→

नींद रातों की उड़ा देते हैं, हम सितारों को दुआ देते हैं 
रोज़ अच्छे नहीं लगते आँसू, ख़ास मौक़ों पे मज़ा देते हैं
-मोहम्मद अल्वी

→→→→→→→→→→→→→

किसी सूरत भी नींद आती नहीं मैं कैसे सो जाऊँ 
कोई शय दिल को बहलाती नहीं मैं कैसे सो जाऊँ 
-अनवर मिर्ज़ापुरी

→→→→→→→→→→→→→

सितारे ये ख़बर लाए कि अब वो भी परेशाँ हैं 
सुना है उन को नींद आती नहीं मैं कैसे सो जाऊँ 
-अनवर मिर्ज़ापुरी

→→→→→→→→→→→→→

तेरे आने की उम्मीद और भी तड़पाती है
मेरी खिड़की पे जब शाम उतर आती है
- अज्ञात

→→→→→→→→→→→→→

तुम ना लगा पाओगे अंदाज़ा मेरी तबाही का
तुमने देखा ही कहां है मुझे शाम होने के बाद
- अज्ञात

→→→→→→→→→→→→→

अब कौन मुंतज़िर है हमारे लिए वहां
शाम आ गयी है लौट के घर जाएं हम तो क्या
- मुनीर नियाज़ी

→→→→→→→→→→→→→

अब तो चुप-चाप शाम आती है
पहले चिड़ियों के शोर होते थे
- मोहम्मद अल्वी
शुभ रात्री - Good Night
→→→→→→→→→→→→→

कभी तो आसमां से चांद उतरे जाम हो जाए
तुम्हारे नाम की एक ख़ूबसूरत शाम हो जाए
- बशीर बद्र

→→→→→→→→→→→→→

नई सुबह पर नज़र पहुंचे मगर आह ये भी डर है
ये सहर भी रफ़्ता- रफ़्ता कहीं शाम तक ना पहुंचे
- शकील बदायुनी

→→→→→→→→→→→→→

तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा सुहाना लगा
मैं एक शाम चुरा लूं अगर बुरा ना लगे
- क़ैसर उल ज़ाफ़री

→→→→→→→→→→→→→

बस एक शाम का हर शाम इंतज़ार रहा
मगर वो शाम किसी शाम भी नहीं आयी
- अजमल सिराज

Good night Shayari
→→→→→→→→→→→→→

होती है शाम आंख से आंसू रवां हुए
ये वक़्त कैदियों की रिहायी का वक़्त है
- अहमद मुश्ताक

→→→→→→→→→→→→→

शाम भी थी धुआं धुआं हुस्न भी था उदास-उदास
दिल को कई कहानियां याद सी आकर रह गयीं
- फ़िराक़ गोरखपुरी

→→→→→→→→→→→→→
.

via GIPHY

Best Shayari on Good Night for Gf, Romantic Shayari on Good Night, Best Shayari on Good Night, Good Night Shayari in Hindi, Good Night Shayari photo, Good Night Sad Shayari, Good Night Shayari for Dost.

शाम ढले ये सोच के बैठे हम अपनी तस्वीर के पास
सारी ग़ज़लें बैठी होंगी अपनी अपनी मीर के पास
- सागर आज़मी

→→→→→→→→→→→→→

शाम पड़ते ही किसी शख़्स की याद
कूचा-ए-जां में सदा करती है
- परवीन शाकिर

→→→→→→→→→→→→→

शामें किसी को मांगती हैं आज भी फ़िराक
गो ज़िंदग़ी में यूं मुझे कोई कमी नहीं
- फ़िराक गोरखपुरी

Good night Shayari
→→→→→→→→→→→→→

यूं तो हर शाम उम्मीदों में गुज़र जाती है
आज कुछ बात है जो शाम पे रोना आया
- शकील बदायुनी

→→→→→→→→→→→→→

शाम से आंख में नमी सी है
आज फिर आपकी कमी सी है
- गुलज़ार

→→→→→→→→→→→→→

कंपकंपाती शाम ने कल मांग ली चादर मेरी
और जाते-जाते जाड़े को इशारा कर दिया
- अज्ञात

→→→→→→→→→→→→→

गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं
हम चराग़ों की तरह शाम से जल जाते हैं
- क़तील शिफ़ाई

Good night Shayari

→→→→→→→→→→→→→

आप ही होगा उसे शाम का एहसास “क़मर”
चढ़ रहा है अभी सुरज इसे ढल जाने दो
- क़मर

→→→→→→→→→→→→→

कभी-कभी शाम ऐसे ढलती है जैसे घूंघट उतर रहा हो,
तुम्हारे सीने से उठता धुआँ हमारे दिल से गुज़र रहा हो 
- अज्ञात

→→→→→→→→→→→→→

वही ख़्वाब ख़्वाब हैं रास्ते वही इंतज़ार सी शाम है
ये सफर है मेरे इश्क़ का,न दयार है न क़याम है
- सुख़नवर

→→→→→→→→→→→→→

शाम तक सुब्ह की नज़रों से उतर जाते हैं 
इतने समझौतों पे जीते हैं कि मर जाते हैं 
- वसीम बरेलवी

→→→→→→→→→→→→→

अब कौन मुंतज़िर है हमारे लिए वहाँ 
शाम आ गई है लौट के घर जाएँ हम तो क्या 
- मुनीर नियाज़ी

→→→→→→→→→→→→→

कभी तो आसमाँ से चाँद उतरे जाम हो जाए 
तुम्हारे नाम की इक ख़ूब-सूरत शाम हो जाए 
- बशीर बद्र

→→→→→→→→→→→→→

याद है अब तक तुझ से बिछड़ने की वो अँधेरी शाम मुझे 
तू ख़ामोश खड़ा था लेकिन बातें करता था काजल 
- नासिर काज़मी

Good night Shayari
→→→→→→→→→→→→→

घर की वहशत से लरज़ता हूँ मगर जाने क्यूँ 
शाम होती है तो घर जाने को जी चाहता है 
- इफ़्तिख़ार आरिफ़

→→→→→→→→→→→→→

हम बहुत दूर निकल आए हैं चलते चलते 
अब ठहर जाएँ कहीं शाम के ढलते ढलते 
- इक़बाल अज़ीम

→→→→→→→→→→→→→

साक़िया एक नज़र जाम से पहले पहले 
हम को जाना है कहीं शाम से पहले पहले 
- अहमद फ़राज़

→→→→→→→→→→→→→

जब शाम उतरती है क्या दिल पे गुज़रती है 
साहिल ने बहुत पूछा ख़ामोश रहा पानी 
- अहमद मुश्ताक़

→→→→→→→→→→→→→

नई सुब्ह पर नज़र है मगर आह ये भी डर है 
ये सहर भी रफ़्ता रफ़्ता कहीं शाम तक न पहुँचे 
- शकील बदायुनी

→→→→→→→→→→→→→

शाम से उन के तसव्वुर का नशा था इतना 
नींद आई है तो आँखों ने बुरा माना है 
- अज्ञात

→→→→→→→→→→→→→

बात आग़ाज़ फूल से होगी
बात का इख़्तिताम ख़ुश्बू है
- हस्सान अहमद आवान

→→→→→→→→→→→→→

जुदा आग़ाज़ से अंजाम से दूर
मोहब्बत इक मुसलसल माजरा है
- फ़िराक़ गोरखपुरी

→→→→→→→→→→→→→

फ़िक्र आग़ाज़ ही की है सब को
कोई अंजाम सोचता ही नहीं
- असग़र वेलोरी

→→→→→→→→→→→→→

अभी ये जफ़ा का है आग़ाज़ ऐ दिल
वफ़ा के अभी इम्तिहां और भी हैं
- ललन चौधरी

Good night Shayari
→→→→→→→→→→→→→

एक आग़ाज़ उभरता है हर अंजाम के बा'द
एक अंजाम भी पलता है हर आग़ाज़ के साथ
- जलील ’आली’
शुभ रात्री - Good Night
→→→→→→→→→→→→→

आ गया सामने अंजाम तड़प उट्ठा दिल
अपने अफ़्साने के आग़ाज़ पे रोना आया
- शाग़िल क़ादरी

→→→→→→→→→→→→→

तिरा ख़त आने से दिल को मेरे आराम क्या होगा
ख़ुदा जाने कि इस आग़ाज़ का अंजाम क्या होगा
- मोहम्मद रफ़ी सौदा

→→→→→→→→→→→→→

आग़ाज़-ए-मोहब्बत से अंजाम-ए-मोहब्बत तक
गुज़रा है जो कुछ हम पर तुम ने भी सुना होगा
- दिल शाहजहांपुरी

→→→→→→→→→→→→→

मसरूफ़ हैं कुछ इतने कि हम कार-ए-मोहब्बत
आग़ाज़ तो कर लेते हैं जारी नहीं रखते
- अब्बास ताबिश

→→→→→→→→→→→→→

वो कभी आग़ाज़ कर सकते नहीं
ख़ौफ़ लगता है जिन्हें अंजाम से
- सिराज फ़ैसल ख़ान

→→→→→→→→→→→→→

तन्हाई ना पाए कोई साथ के बाद
जुदाई ना पाए कोई मुलाकात के बाद
ना पड़े किसी को किसी की आदत इतनी
की हर रात में भी याद आये उसकी याद

→→→→→→→→→→→→→

बे सबब न रात को निकला करो
तुम तो मेरे चाँद हो समझा करो !

Good night Shayari
→→→→→→→→→→→→→

ये जो रातचांदनी बनकर आगन में आये
ये तारे लोरी गा कर आपको सुनाए
आयें आपको इतने प्यारे सपने यार के
नींद में भी आप हलके से मुश्कुराए !

Previous Post Next Post